Wednesday, December 26, 2007

प्रश्न

मेरा अंतस
घबराया, बौखलाया,
इशारे से मुझे पास बुलाया,
आज मुझसे,
पूछ ही बैठा,
"मुझपे" कविता कब लिखोगे?

1 comment:

VaRtIkA said...

यह अ-कविता, कितना कुछ कह जाती है... सवाल और जवाब दोनों दे जाती है... और हर जवाब पर फिर एक प्रश्न छोड़ जाती अहि की क्या सचमुच जवाब यही है...